Sawan Somvar Vrat me Kya Khaye – What to Eat During Sawan Monday Fast

Sawan Somvar Vrat me Kya Khaye

Sawan Somvar Vrat me Kya Khaye

सावन, मानसून का पवित्र महीना अपने साथ भक्ति और आध्यात्मिक महत्व की लहर लेकर आता है। इस महीने में मनाए जाने वाले विभिन्न अनुष्ठानों,परंपराओं और प्रथाओं में से, सावन के पहले सोमवार का व्रत अत्यधिक शुभ माना जाता है। यह दिन भगवान शिव को समर्पित है, और भक्त भक्ति के रूप में और आशीर्वाद पाने के लिए सख्त उपवास (fasting) करते हैं।

जैसे-जैसे भक्त इस आध्यात्मिक यात्रा पर निकलते हैं, उन्हें पूरे दिन शक्ति प्रदान करने के लिए अपने शरीर को एनर्जी देने वाले खाना खाना आवश्यक होता है। इस लेख में, हम कुछ पौष्टिक और स्फूर्तिदायक खाद्य पदार्थों के बारे में जानेंगे जो सावन के पहले सोमवार के लिए योग्य हैं।

Fresh Fruits (ताजे फल):

उपवास के दौरान, फल प्राकृतिक शक्कर, आवश्यक विटामिन, खनिज और फाइबर प्रदान करते हैं। केले, सेब, अंगूर, संतरे और अनार सभी लोकप्रिय उपाय हैं। आप इन्हें साबुत खा सकते हैं या फलों के रस या स्मूदी की तरह पी सकते हैं। ये प्राकृतिक ऊर्जा बूस्टर तुरंत ताज़गी प्रदान करते हैं और दिन के दौरान थकान से निपटने में मदद करते हैं।

Dry Fruits and Nuts (सूखे फल और मेवे):

उपवास के दौरान, खजूर, किशमिश, अंजीर और खुबानी जैसे सूखे मेवों का अक्सर सेवन किया जाता है क्योंकि ये ऊर्जा, फाइबर और आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करते हैं। इसके अलावा, काजू, बादाम और अखरोट जैसे मेवे स्वस्थ फैट, प्रोटीन और खनिजों के अच्छे स्रोत हैं।जो आपको तृप्त(संतोष) और ऊर्जावान बनाए रखने के लिए जरूरी हैं।

Hydrating Drinks (हाइड्रेटिंग ड्रिंक):

उपवास करते समय, ऊर्जा के स्तर को बनाए रखने के लिए जलयोजन आवश्यक है। खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए नारियल पानी, नींबू पानी या ताजे फलों के रस जैसे ताज़ा ड्रिंक चुनें। फलों का रस महत्वपूर्ण पोषक तत्व प्रदान करता है, नारियल पानी इलेक्ट्रोलाइट्स की पूर्ति करता है, और नींबू पानी शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है। ये ड्रिंक न केवल आपकी प्यास बुझाते हैं बल्कि आपको प्राकृतिक रूप से ऊर्जा भी देते हैं, जिससे आप पूरे दिन सक्रिय रहते हैं।

Sabudana (Tapioca Sago) साबूदाना:

उपवास के दौरान सबादाना का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है क्योंकि यह बहुमुखी है। इसे खिचड़ी , खीर , या वड़ा के रूप में बनाया जा सकता है। उपवास के दौरान कार्बोहाइड्रेट का एक बड़ा स्रोत है और ऊर्जा भी देता है।

Singhara (Water Chestnut) सिंघाड़ा:

सिंघाड़े का आटा, का उपयोग अक्सर व्रत के दौरान पूड़ी, जो तली हुई रोटी, या पराठा, जो चपटी रोटी होती है, बनाने के लिए किया जाता है। यह ग्लूटेन मुक्त(gluten-free) और भारी मात्रा में फाइबर, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट है।

Rajgira (राजगिरा या अमरनाथ):

उपवास के दौरान राजगिरा के आटे से रोटियां या दलिया बनाया जाता है। यह ग्लूटेन-मुक्त(gluten-free) है, प्रोटीन से भरपूर है और इसमें सभी आवश्यक अमीनो एसिड, खनिज और विटामिन शामिल हैं।

Barnyard Millet (सामक चावल या बाजरा):

उपवास के दौरान इस्तेमाल किया जाने वाला एक आम अनाज सामक चावल या बाजरा है। यह कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और खनिजों का एक अच्छा स्रोत है, और इसे सामान्य चावल के रूप में पकाया जा सकता है।

Yogurt and Buttermilk (दही और छाछ):

व्रत के दौरान लोग अक्सर दही और छाछ खाते हैं, जो ठंडा और ताजगी देने वाला होता है। यह कैल्शियम, प्रोटीन और प्रोबायोटिक्स का एक अच्छा स्रोत है जो आपके पेट को सेहतमंद रखने में मदद करता है और पाचन में सहायता करते हैं।दही या छाछ का सेवन एसिडिटी और सूजन से निपटने में मदद कर सकता है, जिससे आप पूरे दिन ऊर्जावान और आरामदायक रहेंगे।

Rock Salt (सेंधा नमक):

सेंधा नमक या सेंधा नमक का उपयोग उपवास के दौरान नियमित नमक के स्थान पर किया जाता है। इसे ज्यादा संसाधित नहीं किया जाता है और इसमें आयोडीन की कमी होती है, इसलिए यह उपवास के लिए अच्छा है।

Whole Grains and Legumes (पूर्ण गेहूं और बीज):

साबुत अनाज और फलियाँ जटिल कार्बोहाइड्रेट का अच्छा स्रोत हैं जो लगातार ऊर्जा देता हैं और आपको लंबे समय तक पेट भरा हुआ महसूस कराते हैं। सावन के दौरान आप भूरे चावल, साबुत गेहूं की रोटी, दाल, छोले और बीन्स के साथ पौष्टिक भोजन खा सकते हैं। ये खाद्य पदार्थ फाइबर, प्रोटीन और आवश्यक खनिजों से भरपूर होते हैं, जो स्वस्थ पाचन तंत्र का समर्थन करते हैं।

Coconut (नारियल):

नारियल अक्सर उपवास के दौरान विभिन्न रूपों में खाया जाता है, जैसे नारियल पानी, नारियल का दूध और ताज़ा नारियल। यह हाइड्रेट, स्वस्थ फैट और आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है।

Seeds (बीज):

बीज कई स्वास्थ्य लाभों के साथ एक शक्तिशाली नाश्ता हैं। कद्दू(pumpkin), चिया( chia), सूरजमुखी( sunflower)और सन( flax)के बीज विटामिन, खनिज, स्वस्थ फैट और एंटीऑक्सिडेंट सहित महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर हैं। उपवास के घंटों के दौरान, ये छोटे, पोर्टेबल ऊर्जा बूस्टर सही साथी हैं। आपके आहार में थोड़ी-थोड़ी के बीज आपको लालसा को कम करने, ऊर्जा जारी करने में मदद कर सकते हैं और आवश्यक पोषक तत्व प्रदान कर सकते हैं।

Herbal Teas (हर्बल चाय):

उपवास के दौरान, हर्बल चाय जैसे तुलसी (पवित्र तुलसी) चाय, अदरक चाय, या हरी चाय लोकप्रिय हैं। वे जलयोजन( हाइड्रेशन)प्रदान करते हैं और पचाने में मदद करते हैं और एंटीऑक्सीडेंट प्रदान करते हैं।

Conclusion (निष्कर्ष):

जब आप सावन की अपनी आध्यात्मिक यात्रा शुरू करते हैं और पहले सोमवार का व्रत रखते हैं, तो ऊर्जा प्रदान करने वाले खाद्य पदार्थ खाना महत्वपूर्ण है, जो आपके शरीर को पोषण देगा और आपको पूरे दिन ऊर्जावान बनाए रखेगा।

साबुत अनाज, फलियाँ, दही, छाछ, सूखे मेवे, मेवे, फल और बीज सभी आपके भोजन योजना में शामिल करने के बेहतरीन तरीके हैं। हाइड्रेटेड रहने के लिए नारियल पानी, नींबू पानी और ताजे फलों का रस पीना याद रखें। सावन के दौरान इन पौष्टिक विकल्पों को शामिल करने से आप बेहतर महसूस करेंगे।

याद रखें कि उपवास के लिए क्षेत्रीय और सांस्कृतिक रीति-रिवाजों के आधार पर विभिन्न खाद्य पदार्थों की आवश्यकता होती है। अपने उपवास के भोजन की योजना बनाते समय, अपनी व्यक्तिगत प्राथमिकताओं और धार्मिक या सांस्कृतिक दिशानिर्देशों पर चर्चा करना आवश्यक है। एक बार उपवास की अवधि समाप्त होने के बाद, उचित पोषण सुनिश्चित करने और अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए अच्छी तरह से संतुलित खाना खाये।

Leave a Comment